Pages

Monday, June 28, 2010

तो कैसी आयेंगी अगली सानिया ?


ऊपर की तस्वीर अहमदाबाद के हेल्थ क्लब की है . मुस्लिम लडकियां बुर्के पहन कर अभ्यास कर रही है , क्या बुर्का यहाँ भी जरुरी है ?
और अगर ये सही है तो अगली सानिया क्या आ पाएंगी !

13 comments:

राज भाटिय़ा said...

:)

Udan Tashtari said...

बहुत मुश्किल है जी!!

MLA said...

Fake Photo hai! :-)

aapko dekhkar khud hi samajh jaana chahie tha, itna clear hai ki yeh fake photo hai.

माधव said...

@ MLA

photi is not fake , it was taken by UNI

ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ said...

वैसे फोटो तो झकास है।
शायद आपको फोटो खींचता देखकर मुँह ढक लिया हो?
................
अपने ब्लॉग पर 8-10 विजि़टर्स हमेशा ऑनलाइन पाएँ।

KK Yadava said...

असमंजस की स्थिति है...

Divya said...

Do we need more Saniyas?

प्रकाश ⎝⎝पंकज⎠⎠ said...

कौन कहता है हमें सानिया चाहिए?
और क्यों चाहिए? भारत को चूस का भारत से बाहर जाने के लिए?

नीरज जाट जी said...

पहली बात तो हमें सानिया चाहिये नहीं।
चाहिये भी तो नहीं मिलेगी।

भुवनेश शर्मा said...

पहली बात तो ऐसी सानियाओं की कोई जरूरत नहीं जिसे हमने जितना दिया उसके बावजूद उसने हमारी भावानाओं को चोट पहुंचाई
एक बात और मेरी समझ में नहीं आती कि ये लोग अपनी औरतों को बुरके में ही क्‍यों रखते हैं...बाकायदा बेडि़यां लगाकर पिंजड़ों में डालकर क्‍यों नहीं रखते...तभी शायद इनके समाज का भला हो पाये

फकीरा said...

ऐसे भी सोच कर देखो................


ये सोचने का मुद्दा नहीं है

Anonymous said...

Photo is not fake...I am from one of this islamic country ..where in march past also some of the girls wear burqa and practise.In identity card photo they stick a paper to hide their photo while showing ID card to a man..ab kahen..yeh fact hai Mr. MLA ..

parvez said...

keep trying...........regards : Sarkari Naukri

 

Sample text

Sample Text